pitr dosh astro uncle show एस्ट्रो अंकल पितृ दोष

एस्ट्रो अंकल पे पितृ दोष का विशेष प्रोग्राम उसकी मेन मेन  बाते

show was telecasted on 7th october 2012 , coming 15th october is pitr
amavasya person can get rid of all kind of pitr dosh

पितृ दोष के लक्षण
१) घर में कलह का होना
२) घर के सभी  पुरुषो कि कम समय में मृत्यु होना
३) बड़ी मुशकिल से पैसा आना धन कमाने में नाको चने चबाना पड़ जाता है पितृ
दोष वाले  लोगो को
४) घर के लोग जब सब एक साथ होंगे तो कुछ तर्क कुतर्क करते रहेंगे लेकिन
जैसे ही दूर जायेंगे तो
सब ठीक हो जायेगा
५) सब कुछ ठीक होने के बावजूद भी चीज़े गड़बड़ होंगी (ऐसा लगेगा ये सिर्फ
मेरे साथ ही क्यूँ हो रहा है)
६) नौकरी व्यापर मेन तरक्की रुक जाती है छात्र होंगे तो पढाई पूरी नहीं कर पाएंगे
७) बनते हुए काम बिगड़ जायेंगे  किसी प्रकार से आदमी मेहनत कर भी
ले तो बिना रुके या अटके काम पूरा हो ही नहीं पता है ऐसी ऐसी बढ़ाये आयेंगी कि
आदमी सोच भी नहीं सकता
८) परिवार में जो पुरुष रहा हो वो बहुत कम उम्र में expire कर गया हो या बहुत
संघर्ष करा हो
९) घर के सब सदस्य आपस में झगड़ते रहेंगे तर्क  बहुत करेंगे और मजबूत
पितृ दोष वंश का बढ़ना रोक देगा
१०) कितना भी मेहनत कर लोग पितृ दोष घर में धन रुकने ही नहीं देगा घर में
सूनापन महसूस होगा ,
बीमारी लगी रहेगी घर के लोगो को  पेड़ पौधे जानवर मर जायेंगे , घर की
दीवारों पे पेड़ उगने लगेंगे

११) वही लोग जो आपस में खूब झगड़ेंगे यदि वो दूर चले जायेंगे तो मेल जोल हो
जाता है और सब ठीक हो जाता है
१२) पितृ दोष वाले बच्चो  की एकाग्रता काफी कम हो जाती
है

ऋण दोष वंश दोष आदि आदि दोष इसमें और आग में घी डालने का कम करते है
स्त्री दोष वाणी दोष
यदि ऐसे लक्षण है किसी व्यक्ति के साथ तो ये मान के चले कि वो परिवार
पितृ दोष से प्रभावित है कुछ उपाय जो करने चाहिए

प्रतिदिन पूर्वजो को जल दे पहले सूर्य को जल दे फिर पितरो को जल दे
दक्षिण दिशा में मुह कर के पितरो को जल दे
ॐ पितृ देवताभ्यो नमः या ॐ सर्व पितृ देवताभ्यो नमः मंत्र पढ़ के जल दे
पितरो से क्षमा मांग ले वैसे भी किसी गलती के लिए किसी से
क्षमा मांग लेने से बृहस्पति मजबूत होता है और leadership की स्किल्स आ
जाती है जिन भी लोगो का
बृहस्पति मजबूत होता है उन्हें समाज से सम्मान मिलने लगता है किसी गुरु
या गुरु सामान व्यक्ति के सान्निध्य में रहे
यदि उनसे सम्बन्ध ख़राब हो गया हो तो पुनः सम्बन्ध जोड़ ले गुप्त दान करे
मंदिर निर्माण के लिए पैसा दे एक ईंट भी
दान में गिनी जाएगी , किसी मंदिर जहाँ किसी नाराजगी की वजह से जाना बंद
कर दिया हो वहां जाना पुनः शुरू
कर दे otherwise ये कुंडली में कुछ ऐसे योग बना देंगे जिससे विशेष प्रकार
के दोष उत्पन्न हो जायेंगे
पितृ दोष के केसेस में
usually होता ये है की बृहस्पति कमजोर  हो जाता है या अपना शुभ फल उतना
दे नहीं पाता

१) एकादशी और द्वादशी को पितरो का ध्यान करे ध्यान  में पितरो को याद करे
उनसे क्षमा मांगे जाने
अनजाने कोई अपराध हो गया हो तो द्वादशी वाले दिन का उपाय मंगल दोष को भी
काट देता है
सिर्फ ध्यान लगा लेने से चीज़े बदलने लगती है पूजा का बाह्य आडम्बर नहीं
चाहिए होता है

२) पितरो कि शांति के लिए गायत्री का पाठ या शांति पाठ जरूर करे , तर्पण
क्षमा प्रार्थना ,
मंदिर और ब्रह्मण को दान करे , गाय कुत्ते कौवे कि सेवा जरूर करे सब कुछ
ठीक होने के बावजूद
यदि गड़बड़ है तो ये ऋण दोष के कारण भी हो सकता है
केतु बुध और बृहस्पति के कारण होने वाला ऋण दोष बड़ा गंभीर ऋण दोष होता है

३) संतान दोष — संतान से सम्बन्ध ख़राब हो जायेगा या संतान होगी ही नहीं
, पहले तो संतान होना काफी
मुश्किल हो जाता है ऐसी कुंडलियो में और यदि हो भी जाये तो संतान घर से
दूर चली जाएगी या
संतान से आपका सम्बन्ध ख़राब हो जायेगा

४) पितृ दोष के कारण बृहस्पति भी ख़राब स्थिति में पहुँच जाता है ऐसे में
समाज में कोई आपको नोटिस
नहीं करेगा  आप लोगो  के बीच में होंगे लेकिन लोग आपसे कन्नी काट के
निकाल जायेंगे या लोग आपसे
कटने लगते है

५) हर अमावस्या को पितृ दोष का उपाय कर लिया जाये तो अछा रहता है यदि ये
ना हो सके तो कम से कम
साल में एक बार जो पितृ पक्ष वाली अमावस्या होती है उसमें जरूर कर लिया
करे जिन भी बचो  को पितृ दोष हो वो
भी उपाय कर ले वरना पितृ दोष केवल भटकाव के ओर ले जाता है ,

६) पीपल का या केले का पेड़ लगाये (केले का पेड़ घर में नहीं लगाये ) गाय
कुत्ते कौवे का ग्रास निकलने के बाद शाम को दिया
जलाये पूर्वजो के लिए , कुष्ठ रोगियों कि सेवा करे घर कि महिलाओ का सम्मान करे

७) त्रयोदशी को पितरो से क्षमा मांगे शिव जी की भी पूजा करे
८) कुछ धार्मिक अनुष्ठान करे जीवो को कष्ट देने पे पितृ दोष इसी जन्म में
कष्ट देगा और ऋण दोष आपके बनते हुए सारे काम
बिगाड़ देंगे  बनता बनता काम रुक जायेगा अडचने आयेंगी आपके काम के पूरा होने में
९) प्रतिदिन पूरवजो का तर्पण करे
१०) सौ गायो को एक साथ एक ही दिन में चारा खिलाये वर्ष में एक बार ऐसा करे
११) अमावस्या के दिन परिवार के  सभी  लोग नारियल प्रवाहित कर दे  जल में
(नदी में)
१२) साल में एक बार पितृ विसर्जनी अमावस्या के दिन ये उपाय जरूर करे घर के सब लोग
एक साथ बैठे एक हवन करे सब लोग एक नारियल , एक हल्दी की गांठ , एक रुपये
का सिक्का ले के सब लोग बैठे ,
घर का मुखिया हल्दी की माला ले ले फिर देवताओ का आवाहन करे , पितरो का
आवाहन करे , पितृ गायत्री का पाठ करे ,
ॐ ग्रां  ग्रीं  ग्रौं सः गुरुवे नमः मंत्र की ५ माला जप कर के आहुति दे
हवन सामग्री से
फिर जो हल्दी की गांठ लोगो ने हाँथ में पकड़ रखी थी वो और १ रुपया जो हवन
के दौरान सब लोगो के पास था ले जा के
मंदिर में दान कर दे और नारियल सब लोग पानी में बहा दे पूरा कुटुंब इसमें
शामिल हो तो अछा रहेगा
वरना जितना हो जाये उतना अछा

जिस भी व्यक्ति ने पितृ दोष को शांत कर लिया तर्पण किया तो वर्ष भर के
अन्दर उसके कुछ रुके हुए कम पूरे होंगे साल
भर में कुछ अछा होगा , और ये ना भी हो तो वो negative में जाने से बचेगा

हो सकता है दोष immediately प्रभाव ना दे लेकिन समय आने पे प्रभाव देने लगेगा
इसलिए उपाय कर ले तो अछा रहेगा जिन लोगो को कडवे अनुभव हो चुके है वो तो
समझ सकते है
लेकिन बाकी लोगो को समझ देर से आता है जब आदमी का टाइम अछा होता है तो वो
ज्योतिष  को भगवान को
कुछ नहीं मानता लेकिन जैसे ही टाइम ख़राब हो जाता है सब कुछ समझ आ जाता है

पितरो का तर्पण बहुत आवश्यक है , ऐसे लोगो को एकादशी श्राद्ध जरूर करना
चाहिए , एकादशी को
चावल या हल का दान करे आज क़ल के ज़माने में हल का दान नहीं हो पता लेकिन जितना हो
जाये उतना ही कर ले ,

अमावस्या के दिन परिवार के  सभी  लोग नारियल प्रवाहित कर दे  जल में  (नदी में)
दोषों से बचना मुश्किल होता है क्यूंकि इन दोषों का दुष्प्रभाव होता जरूर है
लेकिन जितना हो सके उतना कम कर देना चाहिए और गंभीर दोषों में तो दोष को
कम करने में वक्त
लगता है  सो उपायों से एक दम से  परिणाम नहीं आता लेकिन धीरे धीरे चीज़े
सही होती चली जाती है

इस दोष से प्रभावित व्यक्ति को अपनी योग्यता अनुसार नौकरी या तरक्की नहीं
मिल पाती है
वो सारी जिंदगी संघर्ष करते रह जाते है और बाधाये   उनका पीछा नहीं
छोड़ती बनते बनते काम बिगड़
जाता है लोग चुगली कर देंगे लास्ट मोमेंट पे ऐसे में आदमी को इसके उपाय
कर जरूर लेने चाहिए
और जीतना हो सके उतना अधिक कर ले , पितृ दोष से मुक्ति केवल अध्यात्म और
साधना से मिल सकती है

जो उपाय टीवी पे नहीं बताये लेकिन अन्य जगहों पे है
१) श्री मद भागवत पुराण पढ़ के उसका फल पितरो को दे दे और भगवान से
प्रार्थना करे कि पितरो को मुक्ति दे दे वैकुण्ठ दे दे
२) गीता पाठ का फल पितरो को दे दे उनके (पितरो ) के नाम से पूजा वगैरह कर दे
३) पितरो के नाम से मंदिर में गुरु के स्थान पे दान करे सेवा करे मंदिर
के प्रपंच में ना लगे सामाजिक स्थल जैसे मंदिर कि साफ सफाई सेवा करे

Tags: Astro Uncle

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s